अजमेर

बम-बम भोले, हर-हर महादेव से गूंजायमान हुये शिवालय

अजमेर। महाशिवरात्रि के पर्व पर अजमेर समेत जिले के सभी शिवालयों और मंदिरों में पूजा-अर्चना के लिए भक्तों का सैलाब उमडा। महाशिवरात्रि पर भगवान शिव का अभिषेक करने के लिए पूरे शहर के शिव मंदिरों में भक्तों का विशाल हुजूम उमड पडा।

सुबह 4 बजे से ही कोटेश्वर महादेव मंदिर, झरनेश्वर महादेव मंदिर, नवाब का बेडा भक्तेश्वर महादेव मंदिर, रोडवेज वर्कशॉप स्थित तत्कालेश्वर महादेव मंदिर, लाखन कोटडी प्राचीन शिवमंदिर, नया बाजार स्थित र्अे चन्द्रेश्वर महादेव मंदिर, मदार गेट स्थित शिव मंदिर, सुभाष उद्यान शिव मंदिर व नसीराबाद रोड बीर चौराहा स्थित शिव मंदिर सहित अनेक शहर व गांवों के शिवालयों में बम-बम भोले की गूंज के साथ पूजाद्ब्रअर्चना का दौर शुरू हो गया। अल सुबह से ही भक्तों की भारी भीड यहां नजर आई। मंदिर में भक्त शिव का दर्शन कर दूध दही से अभिषेक करते हुए नजर आए। मंदिरों में हर-हर महादेव के उद्घोष के साथ बम-बम भोले की गंूज सुनाई दी। पूरा माहौल शिवमय नजर आया। हालांकि भारी भीड के चलते भक्तों को शिव का दर्शन करने व जलाभिषेक करने के लिए घंटों कतार में भी खडे रहना पडा। शिव भक्तों ने भगवान शिव को प्रसन्न करने के लिए दूध व जल के अलावा भांग, धतूरा, बेलपत्रा, आम का बौर, फूल, गेहूं की बाल, बेर अर्पण करते हुए अभिषेक किया। भक्तों ने पंचामृत, ईक्षु रस, विजया, शहद, घी और अन्य द्रव्य और औषधियों से विधिवत् पूजा के साथ स्नान करवाया और फल-फूल और अनेक प्रकार के व्यंजनों का भोग लगाया।

इसी तरह पुष्कर रोड स्थित रसायन शाला में स्थित अर्जी वाले महादेव मंदिर को रंग बिरंगी रोशनी व फूलों से सजाया गया और रात में भजन कीर्तिन का आयोजन किया गया। शिवरात्रि पर लोगों ने उपवास रख कर शिव की पूजा अर्चना की। इसी प्रकार गुलाबबाडी शक्ति नगर स्थित गणपति नगर में पाले वाले गणेश मंदिर पर रात को भजन संध्या का आयोजन किया गया, जिसमें भजन गायकों ने शिव भोले की महिमा का बख्यान किया एक से बढकर एक शिव व गणेश जी महाराज के भजनों की प्रस्तुतियों।

इस दौरान वहां मौजूद भक्तगण झूमने पर मजबूर हो गये। मंदिर के व्यवस्थापक गिरीराज ने बताया कि मंगलवार सुबह से मंदिर में भक्तों का तांता लगा हुआ और भक्तगण शिव भोले की विधि विधान से पूजा अर्चना कर रहे है। मंदिर कमेटी की ओर से मंदिर पर आने वाले भक्तों को ठंडाई का प्रसाद भी वितरण किया जा रहा है। राजीव शर्मा ने कहा कि शास्त्रों में बताया गया हैं कि महाशिवरात्रि यानी देवाधिदेव भगवान शिव का विशेष दिन है और मान्यता है कि शिवरात्रि के दिन सच्चे मन से भोलेनाथ को फूल, भांग और प्रसाद चढाने से वह खुश होते हैं और मनोकामना पूरी करते हैं।

Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!
Close