अजमेर

नोटबंदी में 32 हजार नकली नोट जमा करा गया शातिर

रिर्जव बैंक की चैकिंग में हुआ खुलासा, ब्यावर पीएनबी में हुए थे एक-एक हजार के नकली नोट जमा, मुकदमा दर्ज

अजमेर। देश के प्रधानमंत्राी नरेन्द्र मोदी द्वारा की गई नोटबंदी घोषणा के बाद बैंकों में एक हजार व पांच सौ के नोट बदलवाने की मची आपाधापी में एक शातिर ने एक-एक हजार के 32 नकली नोट ब्यावर के पंजाब नेशनल बैंक शाखा में जमा करा दिए और नई करेंसी वाले नोट लेकर चम्पत हो गया। मामले का खुलासा जयपुर स्थित भारतीय रिजर्व बैंक की जांच में होने के बाद कल अजमेर के कोतवाली थाने पर अज्ञात व्यक्ति के खिलाफ आईपीसी की धारा 489 ए, के तहत मुकदमा दर्ज कराया गया है, कोतवाली थाना पुलिस मामले की जांच कर रही है।

गौरतलब है कि देश में जमा काला धन बाहर निकालने तथा आतंकी संगठनों द्वारा देश की अर्थ व्यवस्था को ध्वस्त करने की नियत से देश में नकली नोट चलाने की साजिश को नाकाम करने की गरज से देश के प्रधानमंत्राी मोदी ने वर्ष 2016 के नवम्बर माह में पांच सौ व एक हजार के नोट चलन से बाहर कर दिए थे। उस समय देश के लोग अपने खून पसीने से कमाए एक हजार व पांच सौ के नोट बदलवाने के लिए बैंको में जाकर घंटों लाइन में लगे थे, लेकिन कुछ शातिर दिमाग के अपराधी इस नोटबंदी में अपना काला धन सफेद करने के लिए तरह-तरह की साजिश कर रहे थे, उसी साजिश के तहत किसी शातिर व्यक्ति ने ब्यावर स्थित पंजाब नेशनल बैंक शाखा में एक-एक हजार के 32 नोट नकली जमा करा दिए और उनके बदले असली नोट लेकर चम्पत हो गया।


कोतवाली थाने के थाना प्रभारी धर्मवीर सिंह ने बताया कि जयपुर स्थित बजाज नगर में भारतीय रिजर्व बैंक ऑफ इण्डिया शाखा के बैंक प्रबंधक आरबीआई आफिसर्स कॉलोनी, गांधीनगर, जयपुर निवासी सुरेश यादव पुत्रा नन्दलाल यादव ने शिकायत दर्ज कराई है कि किसी अज्ञात व्यक्ति ने नोटबंदी के दौरान ब्यावर की पंजाब नेशनल बैंक शाखा में एक हजार के 32 जाली नोट छापकर अथवा परिचालन करके जमा कराए हैं, जिसके खिलाफ भादसं. की धारा 489 ए में मुकदमा दर्ज करके उसकी तलाश शुरू कर दी है।

Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!
Close