सेंसर बोर्ड से सेंसर हुए पहलाज, अब प्रसून के हाथों में सीबीएफसी की कमान |

0
18

मुंबईअपने विवादित फैसलों की वजह से सुर्ख़ियों में रहने वाले पहलाज निहलाणी को अंतत: सेंट्रल बोर्ड आफ फिल्म सर्टिफिकेशन (सीबीएफसी) के प्रमुख के पद से हटा दिया गया है। उनकी जगह जाने-माने गीतकार एवं एड गुरु प्रसून जोशी को सेंसर बोर्ड का ध्यक्ष बनाया गया है। बॉलीवुड ने प्रसून को अध्यक्ष बनाए जाने के फैसले का स्वागत किया है।

सेंसर बोर्ड के सदस्य बनाए गए विवेक अग्निहोत्री ने सेंसर बोर्ड में हुए बदलावों की जानकारी दी। सरकार द्वारा नियुक्त यह निकाय देश में फिल्मों को रिलीज करने से पहले उनकी जांच परख करता है। अग्निहोत्री ने कहा कि सूचना एवं प्रसारण मंत्री स्मृति ईरानी सीबीएफसी को नए नजरिए से देख रही हैं। उन्होंने कहा, “जब प्रसून जोशी सेंसर बोर्ड के मुखिया हों तो फिर मेरा मन इसका सदस्य बनना चाहेगा ही।

फिल्म ‘ब्लैक’, ‘तारे जमीन पर’, ‘भाग मिल्खा भाग’, ‘रंग दे बसंती’, ‘दिल्ली-6’ और ‘नीरजा’ जैसी फिल्मों में योगदान देने और कई सफल विज्ञापन कैंपेन को डिजाइन करने वाले प्रसून जोशी पद्मश्री से सम्मानित किए जा चुके हैं। राष्ट्रीय पुरस्कार विजेता इस गीतकार ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के स्वच्छ भारत अभियान का ‘थीम सांग’ भी लिखा है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के सत्ता में आने के बाद पहलाज निहलाणी को सेंसर बोर्ड का प्रमुख बनाया गया था। अध्यक्ष बनने के बाद से पहलाज विवादों में आगये। उनके फैसले सुर्ख़ियों में रहने लगे।  उनके फैसलों की वजह से बॉलीवुड लगभग उनका दुश्मन ही बन गया था। उनका सबसे ज्यादा चर्चित फैसला था ‘उड़ता पंजाब’ पर 89 कट लगाना। इसका काफी विरोध हुआ था। उसके बाद ‘लिपस्टिक अंडर माय बुर्का’ कोर्ट के फैसले बादजाकर रिलीज हो पायी थी। पहलाज ने इस फिल्म को सर्टिफिकेट देने से इनकार कर दिया था।

प्रसून जोशी की के अध्यक्ष बनाए जाने से पूरा बॉलीवुड खुश है। फिल्मकार श्याम बेनेगल ने कहा कि प्रसून जोशी बहुत अच्छा चयन हैं। वह बहुत अच्छे कवि हैं और सबसे अच्छी विज्ञापन एजेंसियों में से एक का नेतृत्व कर चुके हैं। इस माध्यम पर उनकी पकड़ बहुत अच्छी है।

अपनी फिल्म ‘इंदु सरकार’ के लिए निहलाणी से विवाद में पड़ने वाले फिल्मकार मधुर भंडारकर ने कहा कि मैं स्मृति ईरानीजी और राज्यवर्धन सिंह राठौरजी को उनके फैसले के लिए बधाई देता हूं। मुझे पूरा भरोसा है कि प्रसून का एक अलग नजरिया होगा। वह आज के सिनेमा को समझते हैं।

डाउनलोड करें Hindi News APP और रहें हर खबर से अपडेट।india News से जुड़े हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए Newsview के फ़ेसबुक पेज को लाइक करें

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

eight − 5 =