Home मनोरंजन मेरे रश्के क़मर, क्या आपको इस गाने का सहीं मतलब पता है?...

मेरे रश्के क़मर, क्या आपको इस गाने का सहीं मतलब पता है? अभी जानें

0
364

नमस्कार दोस्तों, आज के वक्त में ‘मेरे रश्के क़मर’ लोगों की जुबान पर ऐसा छाया हुआ है की आज हर व्यक्ति इस गाने को गुन-गुनाता फिर रहा है। बता दें की इस गाने में दो अल्फाज हैं जिसे लोग गाते तो हैं, लेकिन उन्हें इसका मतलब नहीं पता।

Image: Google
Image: Google

सोचिये यदि आप यह गाना गुन-गुना रहे हों और कोई दूसरा व्यक्ति आपसे इस गाने का मतलब पूछ ले तो आप क्या करेंगे? इसलिए आज हम आपको इस गाने के उन दो अल्फाजों के मतलब बताने जा रहे हैं, जो शायद ही आप लोग जानते हों। तो चलिए जानते हैं इन अल्फाजों का मतलब:

Image: Google

आपकी जानकारी के लिए बता दें की ‘मेरे रश्के क़मर’ कोई गाना नहीं है, बल्कि यह एक उर्दू में लिखा हुआ गजल है। जिसे पाकिस्तान के फ़तेह अली खान ने आज से लगभग 30 वर्ष पहले गाया था। लेकिन आज इस गजल को एक गाने का रूप दे दिया गया है, जो आज लोगों को खूब पसंद आ रहा है।

Image: Google

जैसा की हमने बताया की इस गाने में दो अल्फाज हैं, जिसे ‘रश्के’ और ‘क़मर’ कहते हैं। आपको बता दें की रश्के का मतलब हिंदी में जलन से है। यानी किसी से जलना और ‘क़मर’ का मतलब चाँद से होता है। सीधे तौर पर कहें तो किसी चीज की ऐसी खूबसूरती जिसे देख चाँद भी जलने लगे। जी हाँ, यह है इन दो अल्फाजों का मतलब। यदि आपको ये जानकारी अच्छी लगी हो तो अपने दोस्तों के साथ भी शेयर करें।

डाउनलोड करें Hindi News APP और रहें हर खबर से अपडेट।india News से जुड़े हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए Newsview के फ़ेसबुक पेज को लाइक करें

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

18 + thirteen =