राष्ट्रीय

मक्का मस्जिद ब्लास्ट मामले में BJP ने राहुल गांधी से ‘हिंदू आतंकवाद’ पर कॉमेंट को लेकर देश से माफी मांगने को कहा

मक्का मस्जिद ब्लास्ट केस में फैसला आने के बाद बीजेपी ने कांग्रेस के ‘हिंदू आतंकवाद’ कॉमेंट को लेकर देश से माफी मांगने को कहा है. वहीं, अससुद्दीन ओवैसी का कहना है कि इस मामले में लोगों को न्याय नहीं मिला है. मक्का मस्जिद विस्फोट मामले में एनआईए की विशेष अदालत ने 11 साल बाद आज यानी सोमवार को फैसला सुनाया. कोर्ट ने असीमानंद समेत मामले के सभी आरोपियों को बरी कर दिया. अदालत के इस फैसले पर एनआईए ने कहा है कि फैसले की कॉपी मिलने के बाद उसकी जांच करेंगे और आगे की कार्रवाई क्या होगी ये तय किया जाएगा. आइए एक नज़र डालते हैं कि कोर्ट के फैसले पर किसने क्या कहा?

सुब्रमण्यम स्वामी, बीजेपी नेता

”अब हम कह सकते हैं कि ये हिंदू समुदाय के खिलाफ एक साजिश थी. मैं पीएम मोदी से अपील करता हूं कि वो पूर्व गृह मंत्री पी चिंदबरम और राहुल गांधी के खिलाफ केस दर्ज कराएं.”

संबित पात्रा, भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता

”कांग्रेस को ‘हिंदू आतंकवाद’ कॉमेंट को लेकर देश से माफी मांगनी चाहिए. क्या भगवा आंतकवाद के बयान पर राहुल गांधी अब आधी रात को कैंडल  मार्च निकालेंगे?”

शिवराज पाटिल, पूर्व गृह मंत्री

” माफी मांगने का कोई सवाल नहीं उठता, मैंने कभी भी ‘हिंदू आंतकवाद’ शब्द का इस्तेमाल नहीं किया था”

असदुद्दीन ओवैसी, ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहाद-उल मुस्लिमीन (AIMIM)

”जून 2014 के बाद से ज्यादातर गवाह मुकर गए. एनआईए ने इस मामले को ठीक से आगे नहीं बढ़ाया. ऐसा लग रहा है कि एनआईए को राजनीतिक दल चला रहे हैं. उन्होंने आरोपी को दिए गए जमानत के खिलाफ अपील नहीं की. आतंकवाद के खिलाफ हमारी लड़ाई कमजोर हो गई है”

आरवीएस मणि, गृह मंत्रालय के पूर्वअंडर सेक्रेटरी

”मुझे इस फैसले की उम्मीद थी. सारे सबूत बनावटी थे. इस मामले में कोई हिंदू आतंकवाद का कोण नहीं था. NIA का गलत इस्तेमाल किया गया”.

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!
Close