अश्विन और जडेजा हुए बाहर, इन गेंदबाजों पर कोहली को हुआ भरोसा

0
153

भारत ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 5 वनडे मैचों की सीरीज के शुरुआती 3 मैचों के लिए मोहम्मद शमी और भुवनेश्वर कुमार के अलावा उमेश यादव, जसप्रीत बुमराह और हार्दिक पांड्या के रूप में कुल 5 तेज गेंदबाज टीम में रखे हैं, जबकि स्पिन विभाग में अश्विन और जडेजा जैसे अनुभवी गेंदबाजों के बजाय युजवेंद्र चहल, अक्षर पटेल और कुलदीप यादव जैसे युवा स्पिनरों पर भरोसा जताया है।

आंकड़े भी इसके गवाह हैं। इससे पहले जहीर खान (19 विकेट), अजित अगरकर (17 विकेट), जवागल श्रीनाथ और कपिल देव (दोनों 12 विकेट) और एस. श्रीसंत (11 विकेट) ने वनडे में स्पिनरों की तुलना में ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाजों पर अधिक प्रभाव छोड़ा।

ऑस्ट्रेलिया की भी कमोबेश यही स्थिति है। भारत में दोनों टीमों के बीच खेली गयी पिछली वनडे सीरीज में उसने जेवियर डोहटीर के रूप में एकमात्र विशेषज्ञ स्पिनर टीम में रखा था, जो 6 मैचों में केवल 2 विकेट ले पाए थे। एरोन फिंच, ग्लेन मैक्सवेल और एडम वोजेश ने भी कुछ अवसरों पर स्पिन गेंदबाजी की, लेकिन इनमें से अधिकतर की भूमिका तेज गेंदबाजों को विश्राम देने के लिए बीच में कुछ ओवर करने की रही।

इस समय की ऑस्ट्रेलियाई टीम से पहले जेम्स फॉकनर, मिशेल जॉनसन और क्लाइंट मैकाय ने टीम की तेज गेंदबाजी का जिम्मा संभाला था। इन दोनों टीमों के बीच भारतीय धरती पर खेले गए वनडे मैचों में सर्वाधिक विकेट लेने का रिकॉर्ड भी जॉनसन (31 विकेट) के नाम पर दर्ज है।

ऑस्ट्रेलिया इस सीरीज में भी अपने तेज गेंदबाजों फॉकनर, नाथन कूल्टर नाइल, पैट कमिन्स और जोश हेजलवुड पर ही निर्भर रहेगा। उसकी टीम में लेग स्पिनर एडम जाम्पा और बायें हाथ के स्पिनर एस्टन एगर के रूप में दो विशेषज्ञ स्पिनर हैं, लेकिन इनमें से एक को ही अंतिम एकादश में जगह मिलने की संभावना है। जरूरत पड़ने पर मैक्सवेल दूसरे स्पिनर की भूमिका निभा सकते हैं।

रिकॉर्ड के लिए बता दें कि भारत ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ अपनी धरती पर अब तक कुल 51 वनडे मैच खेले हैं, जिनमें से उसे 21 में जीत और 25 में हार मिली, जबकि 5 मैचों का परिणाम नहीं निकला। जहां तक ऑस्ट्रेलिया का सवाल है, तो उसने भारत में ओवरऑल 81 वनडे खेले हैं, जिनमें से 48 में उसे जीत मिली है और 28 में हार। अन्य 5 मैचों का परिणाम नहीं निकला।

इन दोनों टीमों के बीच अब तक कुल 123 वनडे मैच खेले गए हैं। इनमें से भारत ने 41 में जीत हासिल की और 72 में उसे हार का सामना करना पड़ा जबकि 10 मैचों का परिणाम नहीं निकला।

डाउनलोड करें Hindi News APP और रहें हर खबर से अपडेट।india News से जुड़े हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए Newsview के फ़ेसबुक पेज को लाइक करें

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

two × four =